9 बजे 9 मिनट मे ग्रिड फ़ेल होने की संभावना से इंकार - ऊर्जा मंत्री

Avatar

nishant · 04-Apr-20

Administrator ·  183

The-Indian-electricity-grid-is-robust-and-stable.jpg

5 अप्रैल के वो 9 मिनट, नहीं हो सकती ग्रिड में गड़बड़ी-ऊर्जा मंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में देशवासियों से सामूहिकता के इजहार के लिए रविवार को रात 9 बजे से 9 मिनट तक लाइट बंद कर मोमबत्ती, टॉर्च जलाने की अपील की है।
पीएम की इस अपील के बाद ऐसी आशंका जताई जा रही हैं कि एक ही साथ लाइटें बंद होने और 9 मिनट बाद फिर से चालू होने से बिजली ग्रिड क्रैश हो सकता एवं घर मे लगे बिजली के उपकरण भी जल सकते हैं |

इस आशंका के आधार पर सोशल मीडिया पर लोग पीएम मोदी की अपील के समर्थन और विरोध में अपनी-अपनी 'विशेषज्ञता' का इजहार करने लगे। देखते ही देखते सोशल मीडिया पर इसे लेकर बहस छिड़ गई कि पीएम मोदी को इस तरह की अपील करनी चाहिए थी या नहीं।

इन अफवाहों को खारिज करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री एवं ऊर्जा मंत्री ने प्रदेश वासियों के लिए एक विडियो संदेश जारी किया और ऐसे किसी भी संभावनाओं से इंकार किया | उन्होंने जोर देकर कहा कि प्रदेश के इंजीनियर्स ये सुनिश्चित करने में जुटे हैं कि लोगों को किसी तरह की दिक्कत ना आए।

इसी क्रम मे उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन लिमिटेड ने प्रैस विज्ञप्ति जारी करते हुए स्पष्ट किया कि

मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा 5 अप्रैल 2020 को रात्रि 9:00 बजे से 9 मिनट के लिए घरेलू बत्ती बंद किए जाने तथा दीपक, मोमबत्ती, टार्च अथवा मोबाइल फ्लैशजलाए जाने का अहवाहन किया गया है |

कतिपय सोशल मीडिया / टीवी चैनल / प्रिंट मीडिया मे इस प्रकार के समाचार प्रकाशित हुए हैं कि उक्त के कारण पावर ग्रिड तथा विजली संचालित उपकरणो पर प्रतिकूल प्रभाव  पड़ने की संभावना है |

तत्क्रम मे यह स्पष्ट करना है कि उक्त सम्भावना निर्मूल है| राष्ट्रीय पावर ग्रिड काफी मजबूत है तथा इस तरह की परिस्थितियों से विद्युत मांग मे कमी अथवा वृद्धि के बावजूद ग्रिड को स्थायी रखने के लिए प्रायप्त व्यवस्थाए/प्रोटोकॉल मौजूद है | अतः किसी भी तरह से आशंकित होने की आवश्यकता नहीं है |

मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा केवल घरेलू बत्ती बंद करने की अपेकषा ककई गयी है | घर के अन्य उपकरण यथा कम्प्युटर, टीवी, पंखा, फ्रिज तथा एयर कंडिशन आदि संचालित रहेंगे | इसी प्रकार मार्ग प्रकाश एवं अन्य आवश्यक सेवायें यथा अस्पताल, पुलिस सेवा एवं लौकडाउन से अप्रभावित उद्योग एवं वाणिज्यिक संस्थाएं चालू रहंगे| शांति व्यवस्था के दृष्टिकोण से भी मार्ग प्रकाश नहीं बंद किए जाने के निर्देश दिये गए हैं| हाउसिंग सोसाइटी एवं वेल्फेयर असोशिएशन से भी अपेक्षा की गयी है कि वो सोसाइटी कि आपूर्ति बाधित न करे|