विद्युत विभाग ने 24:00 घंटे आपूर्ति देकर मनाया सौभाग्य दिवस

Avatar

nishant · 26-Feb-19

Administrator ·  174

भारत सरकार की अति महत्वाकांक्षी सौभाग्य योजना (प्रधान मंत्री सहज हर घर बिजली योजना) के अंतर्गत प्रदेश के हर घर को बिजली देने का लक्ष्य रखा गया था| इसके अंतर्गत बिजली विभाग ने प्रदेश के हर घर को निःशुल्क बिजली संयोजन देकर सभी घरों को बिजली पहुँचने का कार्य किया है| इस कार्य के लिए न केवल मुफ्त बिजली कनेक्सन दिये गए , जबकि बिजली की लाइने बनी और आवश्यकतानुसार ट्रान्स्फ़ोर्मर एवं बिजलीघर भी बनाए गए| सरकार के निर्देशानुसार विभाग ने अपनी इस सफलता का जश्न मनाने के लिए आज दिनांक 26-फरवरी-2019 को सौभाग्य दिवस मनाया|

[div12][div6]Saubhagya-Diwas.jpg[/div6]
[div6]जिला गौतमबुद्धनगर में सौभाग्य दिवस : इसी क्रम मे आज जिला गौतमबुद्ध नगर कई मजरों मे सौभाग्य दिवस मनाया गया| ग्रामीण क्षेत्रों को भी आज निर्बाध 24 घंटे की आपूर्ति की गयी| दादरी खंड के अंतर्गत 14 गाँव मे इसका आयोजन किया गया| नूरपुर, नई बस्ती ,दतावली, बिल अकबरपुर, रसूलपुर , मुठयानी, सुल्तानपुर, रघुवीर गढ़ी, धनुवास, सादोपुर, धूम, घूम खेड़ा, डेरी स्कैनर मे अवर अभियंता, उपखण्ड अधिकारी एवं अधिशासी अभियंता की उपस्थिती मे ग्रामीणो को विभाग की उपलब्धियों की जानकारी दी गया | साथ ही समय से बिजली बिल देने हेतु प्रेरित किया गया| दादरी खंड के अंतर्गत नवनिर्मित बिजलीघर कुड़ी खेड़ा का निर्माण एवं लादीपुरा मे आजादी के बाद पहली बार पहुंची बिजली को प्रमुखता से बताया गया|[/div6]
[/div12]

.


[div12]

जनपद गौतमबुद्ध नगर मे ऊर्जा विभाग की उपलब्धियां

[/div12]

  • लगभग 20 हज़ार घरों को निःशुल्क बिजली कनैक्शन दिये गए
  • 542 मजरों को पूर्ण रूप से विद्युतीकृत किया गया
  • दो 33/11 KV उपकेंद्र बनाए गए
  • 13 बिजलीघरों की क्षमता बढ़ाए गए एवं 4657 नए ट्रान्स्फ़ोर्मर लगाए गए
  • दो नए पारेषण उपकेंद्र बनाए गए एवं 7 उपकेंद्र की क्षमता वृद्धि की गयी
  • 9 नए पारेषण के उपकेंद्र प्रस्तावित हैं

    .

विद्युत वितरण खंड - दादरी मे सौभाग्य दिवस

Saubhagya-Diwas2.jpg
ग्रेटर नोएडा में विद्युत वितरण खंड -दादरी के अंतर्गत एक छोटा सा गांव है - लादीपुरा। यहां से लगभग 6 KM दूर विद्युत उत्पादन की कंपनी NTPC भी है और 4 KM दूर 220 KV ट्रांसमिशन उपकेंद्र भी है। पर इस गांव में बिजली नहीं थे। संभवतः कारण था कि यहां की आबादी काफी कम थी और विद्युतीकरण हेतु लंबी लाइन बननी थी, पर सौभाग्य योजना के अन्तर्गत सरकार हर घर बिजली पहुंचने को वचनबद्ध है। यही कारण था कि सिर्फ 15 घर बिजली कनेक्शन देने के लिए लगभग 1.5 KM के लाइन बनाये गए, ट्रांसफॉर्मर लगाए गए और मुफ्त में विद्युत संयोजन दिए गए।

.